यूआरआईसीएम में आपका स्वागत है

उदयभानसिंहजी क्षेत्रीय सहकारी प्रबंध संस्थान (URICM) , गांधीनगर, राष्ट्रीय सहकारी प्रशिक्षण परिषद, नई दिल्ली के उन्नीस संस्थानों में से एक है, जो कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार, नई दिल्ली द्वारा प्रवर्तित एक स्वायत्त निकाय है। कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार के प्रभारी मंत्री राष्ट्रीय सहकारी प्रशिक्षण परिषद (NCCT) और NCCT की गवर्निंग काउंसिल के अध्यक्ष हैं। कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार के कृषि राज्य मंत्री और सचिव क्रमश: राष्ट्रीय सहकारी प्रशिक्षणकिया जाता है।

संस्थान की स्थापना 1956 में हुई और इसका नाम पोरबंदर के राजकुमार उदयभानसिंहजी के नाम पर रखा गया, जो सहकारी आंदोलन के नेता थे। संस्थान को कृषि और कृषि- संबद्ध क्षेत्र में प्रबंधन प्रशिक्षण, प्रबंधन शिक्षा, अनुसंधान और परामर्श प्रदान करने का शासनादेश प्राप्त है। प्रारंभ में यह सहकारी संगठनों के मध्यवर्ती स्तर और कनिष्ठ स्तर के अधिकारियों और सदस्यों एवम सहकारिता विभाग के अधिकारियों के इन-सर्विस प्रशिक्षण को पूरा करने के लिए स्थापित किया गया था। पिछले एक दशक से यह एग्री-बिजनेस इंडस्ट्री और सर्विस सेक्टर की जरूरत को पूरा करने के लिए पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन मैनेजमेंट (एग्री-बिजनेस मैनेजमेंट) की पेशकश कर रहा है। इसने रक्षा क्षेत्र में कौशल विकास कार्यक्रम की पेशकश भी शुरू कर दी है। स्थान स्तर पर, NCCT द्वारा गठित प्रबंधन समिति संस्थान के प्रबंधन के लिए जिम्मेदार है। संस्थान की प्रबंधन समिति का नेतृत्व सहकारी समितियों के रजिस्ट्रार, गुजरात सरकार द्वारा किया जाता है। संस्थान के पास सहकारी समितियों के रजिस्ट्रार, गुजरात सरकार की अध्यक्षता में कार्यक्रम सलाहकार समिति है। राज्य सहकारी संघों के मुख्य कार्यकारी अधिकारी, राज्य सरकार के अन्य संबंधित विभाग के प्रमुख और स्थानीय विश्वविद्यालय / प्रबंधन संस्थानों के प्रतिनिधि इस समिति के सदस्य हैं। कार्यक्रम सलाहकार समिति के परामर्श से संस्थान के वार्षिक प्रशिक्षण कार्यक्रम संस्थान गांधीनगर में हरे-भरे वातावरण में 04 एकड़ भूमि में फैला हुआ है जहां प्रशासनिक ब्लॉक, लड़कों के छात्रावास, महिला छात्रावास, स्टाफ क्वार्टरों के अलावा अन्य सुविधाएं मौजूद है । के कैडर बनाने की सुविधा प्रदान करना है।Read more..